शुक्रवार, 5 नवंबर 2021

Afghanistan

यदि पौराणिक गाथाओं पर भरोशा किया जाय तो अफगनिस्तान भारत के लिए हमेशा दुखदायी रहा है ।
माता कैकेयी से लेकर गांधार नरेश शकुनि का  समवंध अफगनिस्तान से रहा है ।
भगवान राम को वनवास भेजवाने से लेकर राजा दशरथ की अकाल मृत्यु में माता कैकेयी की भूमिका से सब वाक़िफ़ है ।
कौरव पांडव के वीच हुए महाभारत युध के लिए शकुनि की मुख्य भूमिका रही ।गांधारी की ज़िद्द भी काफ़ी हद तक ज़िम्मेदार माना जाता रहा है ।
तालिबान के उदय के साथ ही सत्य अहिंसा का पाठ पदाने वाले महात्मा बुद्ध की सबसे ऊँची प्रतिमा को खंडित करने की घटना हम सबके ज़हन में आज भी क़ायम है ।
उस समय उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री राजनाथ सिंह ने उत्तर प्रदेश में बामयान से ऊँची बुद्ध की प्रतिमा लगवाने का ऐलान किया था ।राजनाथ जी अब देश के defence minister हैं।प्रतिमा लगी की नहि , इसके बारे में मुझे जानकारी  नहि है ।
Air india की जहाज़ का अपहरण और बदले में कंध हार में ले जाकर मौलाना मसूद अज़हर जैसे कुख्यात आतंकी की रिहाई को कोई भी  भारतीय कैसे भूल सकता है ।
मौलाना मसूद अज़हर आज भी पाकिस्तान में रहकर भारत विरोधी गतिविधियों को अंजाम देता रहा है ।
बताया जा रहा है की अफगनिस्तान के हालात और छेत्रिय सुरकछा के सवाल पर बैठक होने वाली है ।भारत के national security advisor ajit doval भी हिस्सा लेने वाले है ।
उमीद है की भारत की security के मद्दे नज़र कोई ठोस निर्णय लिए जाएँगे ।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें