सोमवार, 18 जनवरी 2021

Tug of war

उत्तर प्रदेश का अपना अलग इतिहास और पहचान रहा है 
आज़ादी से लेकर अब तक उत्तर प्रदेश का राजनैतिक नेतृत्व हमेसा केंद्रीय सत्ता के समानांतर अपनी सत्ता चलाता रहा है 
इसकी शुरुआत पंडित जवाहर लाल नेहरू  और पंडित गोविंद बल्लभ पंत के बीच चले खिच तान हुई ।चंद्रा भान गुप्ता कमला पति त्रिपाठी चौधरी चरण सिंह सुचिता कृपलानी विश्व नाथ प्रताप सिंह हेमवती नंदन बहुगुणा बीर बहादुर सिंह कल्याण सिंह मुलायम सिंह मायावती और अखिलेश यादव ने मुख्य मंत्री रहते हुए केंद्रीय सत्ता से अपनी अलग राय और अलग पहचान बनाए रखने की कोशिस की 
उत्तर प्रदेश कभी भी पिछलग्गू बन कर नहीं रहा देश के ज़्यादातर प्रधान मंत्री उत्तर प्रदेश से हुए है राजनैतिक तौर पर उत्तर प्रदेश हमेशा देश को दिशा देता रहा है 
शायद यही कारण है की उत्तर प्रदेश का मुख्य मंत्री खुद को first among equal के रूप में मानता है 
उत्तर प्रदेश ke mukhya mantriyon का यही attitude हमेसा केंद्रीय सत्ता के शीर्ष पर बैठे लोगों की आँख में किरकिरी बना रहा है

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें