शनिवार, 30 मई 2020

covid 19

इबादत गाहों और पूजा स्थलों को खोलने का फ़ैसला स्वागत योग्य है 
Covid 19 का अभी तक कोई इलाज नहीं है
इस तथ्य को पूरी दुनिया मान चुकी है
अब सब कुछ भाग्य और भगवान भरोसे है
भारत में तो पहले से ही सब कुछ  भगवान पर छोड़ दिया जाता है
माना जाता है की लगभग 140 crores के देश में 84 crore देवी देवता हैं
ऐसे में भारत के लोगों को किसी महामारी से डरने की ज़रूरत नहीं है
अब तो हम covid 19 को भी पराजित कर लेंगे ठीक उसी तरह 
जिस तरह से हमने अभी तक महँगाई बेरोज़गारी बिगड़ती अर्थ व्यवस्था को क़ाबू किया है 
उसी तरह से आतंक वाद naxalvad और पाकिस्तान नेपाल और चीन पर भी नकेल कसने में कामयाब होंगे
आख़िर हम सबको 84 crore देवी देवताओं के अलावा ट्रम्प साहेब का भी साथ और आशीर्वाद प्राप्त है
इबादत गाहों और पूजा स्थलों के खुलने से लाखों धर्म गुरुओं को भी आर्थिक लाभ होगा 
तालाबन्दी के चलते उनकी अर्थ व्यवस्था भी हिल गयी थी 
आख़िर में अब उनका आशीर्वाद भी हमारे साथ होगा और हम negativity se positivity की तरफ़ बड़ेंगे

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें